यूपी विधानसभा में विस्फोटक मिलने से हड़कंप, मुख्यमंत्री ने बुलाई उच्चस्तरीय बैठक

उत्तरप्रदेश। यूपी विधानसभा की सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आया है। विधानसभा सत्र के दौरान गुरुवार को एक विस्फोटक मिलने से हड़कंप मच गया है। कार्यवाही के दौरान सभा के अंदर से 60 ग्राम सफेद रंग का पाउडर मिला। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बावत एक अहम बैठक बुलाई है। थोड़ी देर में ये बैठक शुरू हो जाएगी। रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि वो संदिग्ध पाउडर प्लास्टिक एक्सप्लोसिव (PETN) है। ये पाउडर नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी के नीचे मिला। जैसे ही विस्फोटक का पता लगा तुरंत भवन बंद कर दिया गया। सुरक्षाकर्मी जांच में जुट गए। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस संबंध में उच्चस्तरीय बैठक बुलाने के साथ ही मामले की जांच गंभीरता से करने के आदेश दिए हैं। इस बैठक में विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित भी मौजूद रहेगें। राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) आनंद कुमार ने बताया कि पीईटीएन नामक यह विस्फोटक नेता विरोधी रामगोविंद चौधरी की कुर्सी के आसपास मिला है। 

उनका कहना था कि इस विस्फोटक के लिए डेटोनेटर की जरुरत होती है लेकिन डेटोनेटर नहीं मिले हैं। उन्होंने माना कि यह सुरक्षा में चूक है लेकिन पूरी जांच के बगैर कुछ और नहीं कहा जा सकता। उन्होंने कहा कि मामले की जांच हो रही है। दूध का दूध- पानी का पानी होगा। कल शाम विस्फोटक मिलने के बाद तत्काल इसे जांच के लिए भेज दिया गया था। 

उधर, विस्फोटक मिलने के बाद विधानभवन की सुरक्षा और बढा दी गई है। कमाण्डों तैनात कर दिए गये हैं। चप्पे-चप्पे पर चौकसी बरती जा रही है। विशेषज्ञों की माने तो विस्फोटक काफी शक्तिशाली है। विधानभवन में गृह विभाग और पुलिस विभाग के बडे अधिकारी भी मौजूद हैं।

सचिवालय सुरक्षा की चाक चौबंद ब्यवस्ता पर पहले विधान सभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित ने प्रमुख सचिव गृह, प्रमुख सचिव सचिवालय प्रशासन, डीजीपी, एडीजी ला ऐंड आर्डर, एडीजी सेक्योरिटी, अपर पुलिश अधीक्षक विधान सभा सहित वरिष्ठ अधिकारियो  के पेंच कसे।

सचिवालय के अंदर सुरक्षा की जिम्मेदारी सचिवालय प्रशाशन विभाग के पास होने की बात इस बैठक में उठने के बाद देर शाम महेश गुप्ता ने सचिवालय प्रशासन विभाग के अधिकारीयों सहित सुरक्षा अधिकारीयों की क्लास ले डाली। तिलक हाल में बुलाई गई इस अहम् बैठक में महेश गुप्ता ने सचिवालय सुरक्षा ब्यवस्था की सिलसिलेवार जानकारी ली और आने वाली समस्याओं को कैसे दूर किया जाए इसपर अधिकारीयों के सुझाव भी मांगे।

महेश गुप्ता ने कहा की बिना पास लगी गाड़ी चाहे किसी भी सख्सियत की ही क्यों ना हो उसे सचिवालय में कदापि प्रवेश न होने दिया जाए। उनका यह भी कहना था कि गेटों पर सुरक्षा कर्मियों की संख्या में वृद्धि करके सुरक्षा को और मजबूत किया जाएगा। गुप्ता ने सुरक्षा कर्मियों से कहा कि सबका सम्मान रखते हुए गेटों पर अनावश्यक बिना पास वालों से विवाद ना करें। यदि कोई विवाद करता है तो इसकी जानकारी मुझे दी जाए मैं स्वयं देखूंगा। 

सांसदों, विधायकों द्वारा बिना पास लगे वाहन को रोके जाने और इसको लेकर विशेषधिकार हनन के मुद्दे पर महेश गुप्ता का कहना था कि ऐसे मसले मेरे सामने लाए जाएं। विवाद ना किया जाए। माना जा रहा है कि सचिवालय  सुरक्षा को लेकर सरकार के कड़े रुख को देखते हुए कल से बिना पास वाले वाहन तथा बिना पास आने वाले लोगों की अब आगे दाल नहीं गाल पाएगी। 

सुरक्षा अधिकारीयों से महेश गुप्ता ने कड़े लहजे में कहा कि सुरक्षा चूक को गंभीरता से लिया जाएगा।  मामले की गंभीरता का अंदाज इसी से लगता है की सचिवालय सुरक्षा के मसले पर महेश गुप्ता की मीटिंग के पहले विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की अध्यक्षता में प्रमुख सचिव विधान सभा, प्रमुख सचिव गृह, प्रमुख सचिव सचिवालय प्रशासन, डीजीपी, एडीजी ला ऐंड आर्डर, एडीजी सेक्योरिटी, अपर पुलिश अधीक्षक विधान सहित वरिष्ठ अधिकारितों की विधान सभा के कमरा न. 15 में लंबी बैठक की गई।

source: live hindustan 

You May Also Like