फिल्म पद्मावती का विरोध जारी, सुप्रीम कोर्ट में फिर दायर हुई याचिका

नई दिल्ली।  फिल्म पद्मावती को लेकर देशभर में विरोध बढ़ता जा रहा है। वहीं अब फिल्म कलाकरों और निर्देशकों को धमकी देना भी शुरू हो गया है।
करणी सेना के दिपिका के नाक काट लेने वाले बयान के बाद अब एक अन्य नेता ने भंलासी के सिर काटने वाले को 5 करोड़ रूपए देने का ऐलान किया है।
वहीं यूपी की योगी सरकार ने प्रदेश में फिल्म नहीं रिलीज करने को लेकर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय को पत्र लिखा है।
संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती की प्रस्तावित रिलीज डेट नजदीक आते ही विवाद चरम पर पहुंचता जा रहा है। फिल्म को देशभर में विरोध करने के बाद अब जान से मारने और हिंसा फैलाने की धमकी देना शुरू हो गया है।
फिल्म के रिलीज को कोई नहीं रोक पाएंगा दीपिका के इस बयान पर करणी सेना के नेता ने कहा कि अगर हमें इसी तरह उकसाया जाएंगा तो हम दीपिका की नाक काट देगें। इस बीच मेरठ के एक अन्य नेता ने फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंलासी के सिर को कलम करने पर 5 करोड़ का इनाम रखा है।
इस बीच केंद्रीय मंत्री उमा भारती दीपिका की नाक काटे जाने वाले बयान पर टिप्पणी करते हुए ट्वीट किया और कहा कि जब हम रानी पद्मावती का नाम लेते है तो फिर महिलाओं की इज्जत करना भी हमें याद रहना चाहिए।
उमा भारती ने कहा कि फिल्म के लिए हीरो-हिरोइन जिम्मेदार नहीं है बल्कि विवाद के लिए फिल्म के डायरेक्टर और राइटर जिम्मेदार है। राइटर को लोगों की भावनाएं  और ऐतहासिक तथ्यो को ध्यान में रखकर फिल्म की कहानी लिखनी चाहिए।
इस बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कंेंद्रीय सूचना एंव प्रसारण मंत्रालय को पत्र लिखकर फिल्म की रिलीज को रोकने के लिए कहा है। सरकार ने कहा कि उस समय फोर्स चुनावो ंमें व्यस्त रहेगी और जिस तरह लोगो में गुस्सा है उससे शांति व्यवस्था में खतरा हो सकता है। 
 
 

You May Also Like